इंटर कालेज स्टेट बैडमिंटन नियमों बारे दिशा-निर्देश जारी

चंडीगढ़, 1 सितंबर- हरियाणा के उच्चतर शिक्षा विभाग ने वर्ष 2017-18 के दौरान इंटर कालेज स्टेट बैडमिंटन तथा योगा टूर्नामैंट आयोजित करवाने के लिए कुछ नियमों बारे दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इस बारे में सभी राज्य विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रार तथा कालेजों के प्रधानाध्यापकों को पत्र के माध्यम से सूचित भी कर दिया है।
    विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इंटर कालेज स्टेट योगा टूर्नामैंट लडक़ों और लड़कियों के लिए अलग-अलग होगी जिसमें आसन व योगाभ्यास करवाए जाएंगे। कालेज की एक टीम में एक आरक्षित प्रतिभागी समेत कुल 6 प्रतिभागी शामिल होंगे जबकि ‘बस्ट-फाइव’ प्रतिभागियों के अंक ही जोड़े जाएंगे। इसमें व्यक्तिगत उपलब्धि नहीं जोड़ी जाएगी। कुल 100 अंकों में से 60 अंक चार अनिवार्य आसनों के,10 अंक सूर्य नमस्कार के तथा शेष 30 अंक तीन वैकल्पिक आसनों के होंगे।
    इसके अलावा इंटर कालेज स्टेट बैडमिंटन टूर्नामैंट भी लडक़ों व लड़कियों की अलग-अलग होगी जिसमें लडक़ों की टीम में अधिक से अधिक सात प्रतिभागी तथा लड़कियों की टीम में अधिक से अधिक 5 प्रतिभागी शामिल हो सकते हैं। इस टूर्नामैंट में भी व्यक्तिगत उपलब्धि को नहीं गिना जाएगा। इसके अलावा ‘नॉक-आऊट’ के आधार पर यह टूर्नामैंट आयोजित करवाई जाएगी।
    प्रवक्ता के अनुसार इंटर कालेज स्टेट बैडमिंटन टूर्नामैंट में हिस्सा लेने वाली सभी टीमों को ‘शटल-कॉक’ (ए.एस-2)अपने साथ लाने होंगे। उन्होंने यह भी बताया कि टूर्नामैंट के सुचारू रूप से संचालन के लिए टूर्नामैंट में हिस्सा लेने के लिए आने वाली टीमों की संख्या के आधार पर मेजबान कालेज अपने स्तर पर कुछ परिवर्तन करने का अधिकार भी रखते हैं।