2.5 करोड़ लोगों की बीमारियों की जांच के लिए बनेंगे हैल्थ कार्ड

चण्डीगढ़, 18 सितम्बर- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि प्रदेश की करीब 2.5 करोड़ जनता की बीमारियों की जांच करवाने के लिए राज्य के सभी लोगों के हैल्थ कार्ड बनाये जाएंगे। देश में अपनी तरह की इस पहली चिकित्सकीय योजना केमाध्यम से बच्चों से बुजुर्गों एवं महिलाओं तक सभी के 30 से 35 मेडिकल टैस्ट नि:शुल्क करवाये जाएंगे। 
स्वास्थ्य मंत्री ने इस संबंध में आयोजित आज विभाग की समीक्षा बैठक में बोलते हुए कहा कि इससे प्रदेश के विभिन्न जिलों तथा क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की विभिन्न बीमारियों की विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध होगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए पूरे प्रदेश को 4-5 जोन में बांटा जाएगा, जहां अलग-अलग एजैंसियों को सभी लोगों की जांच एवं उनका पूरा रिकार्ड ऑनलाइन करने के निर्देश होंगे। इसके अलावा, संबंधित लोगों को टैस्ट रिपोर्ट की हार्ड कॉपी भी उपलब्ध करवाई जाएगी ताकि वे इसे अपने उपचार के लिए सहजता से प्रयोग कर सकें। इस पूरे डाटा को विभाग के एप पर भी डाला जाएगा ताकि कोई भी व्यक्ति भविष्य में इसका प्रयोग कर सके।
श्री विज ने बताया कि इसके लिए मोबाइल जांच वैन का प्रयोग किया जाएगा, जिनमें जांच की सभी सुविधाओं सहित चिकित्सकों की ड्यूटी भी लगायी जाएगी। इस वैन की सहायता से लोगों के घरों में जाकर बच्चों से लेकर बुजुर्गों तथा महिलाओं सभी के रक्त, टीबी, लीवर, कैंसर, बीपी, सुगर इत्यादि प्रमुख बीमारियों की जांच की जाएगी। इससे लोगों को बीमारी का प्रारभिंक क्षणों में ही पता चल पाएगा तथा वे इन्हें ठीक करने का ध्यान दे सकेंगे।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि इससे प्रदेश के सभी क्षेत्रों में विभिन्न बीमारियों से प्राप्त आंकडों के आधार पर सरकार उनकी रोकथाम हेतु उपाय कर सकेगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए चिकित्सकों की एक जांच समिति का गठन किया जाएगा, जोकि विभिन्न टैस्टों की रूपरेखा तैयार करेगी। इस बारे में शीघ्र टेडंर जारी करने के भी निर्देश दिये हैं। 
इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव श्री अमित झा, आयुष विभाग के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार, हरियाणा चिकित्सा सेवा निगम लिमिटिड के प्रबन्ध निदेशक श्री अमित अग्रवाल, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. सतीश अग्रवाल  तथा एनआईसी व सी-कैड सहित अन्य विभागों के अनेक वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।