आर.टी.आई कानून की आड़ में ब्लैकमेल करने वाला पुलिस के हवाले किया

राज्य सूचना कमीशन के कार्यालय में दस हज़ार रुपए लेकर केस वापिस लेने की दिया था गुरदेव सिंह  ने आवेदन

चंडीगढ़, 12 मार्च: 2018, पंजाब राज्य सूचना कमीशन के प्रमुख स. एस.एस. चन्नी ने आज सूचना के अधिकार कानून का दुरुपयोग करने वाले कथित कार्यकर्ता को रिश्वत लेते रंगे हाथों पुलिस हवाले कर दिया।

इस संबंधी जानकारी देते हुये पंजाब राज्य सूचना कमीशन के प्रमुख स. एस.एस. चन्नी ने बताया कि राज्य सूचना कमशिनर मिस. प्रीति चावला की अदालत में आज कार्यवाही दौरान जब मुदई ‘आर.टी.आई. कार्यकर्ता’ गुरदेव सिंह सुपुत्र गागा सिंह निवासी गांव कोठे सपूरा सिंह जिला बठिंडा की तरफ से डाले गए केस की सुनवाई शुरू हुई तो उसने लिखकर विनती की उसको आर.टी.आई. एक्ट अधीन माँगी गई जानकारी मिल गई हैै इस लिए केस बंद करने की अपील की गई।

इस पर राज्य सूचना कमशिनर मिस. े प्रीति चावला ने बचाव पक्ष के प्रीतम सिंह लैक्चरार / इंचार्ज प्रिंसीपल सरकारी गर्लज़ सीनियर सेकेंडरी स्कूल मंडी कलाँ से इस केस बाबत पुछा तो उस ने जवाब दिया कि यह केस बंद करवाने के लिए गुरदेव सिंह को 10 हज़ार रुपए रिश्वत के तौर पर आज राज्य सूचना कमीशन के चंडीगढ़ स्थित मुख्य कार्यालय में दिये है। यह रिश्वत 2000 -2000 के पाँच नोटों के रूप में दी है और दिए गए नोटों की फोटो कापी उसके पास है।

इस पर दोनों को बिठाकर पड़़ताल की गई और आर.टी.आई.कार्यकर्ता गुरदेव सिंह सुपुत्र गागा सिंह निवासी गांव सपूरा सिंह जिला बठिंडा और प्रीतम सिंह लैक्चरार / इंचार्ज प्रिंसीपल सरकारी गर्लज़ सीनियर सेकेंडरी स्कूल मंडी कलाँ से लिखित रूप में पूरी घटना की जानकारी  ली गई। जिसके बाद राज्य सूचना कमीशन के प्रमुख स. एस.एस. चन्नी ने इस संबंधी लिखित तौर पर एस.एस.पी. सूचना दी गई और आगामी कार्यवाही के लिए एस.एच.ओ इंचार्ज सैक्टर 17 पुलिस स्टेशन मंिन्द्रर सिंह के हवाले आर.टी.आई.कार्यकर्ता गुरदेव सिंह और रिश्वत देने वाले प्रीतम सिंह कर दिया।