MC एनफोर्समेंट, सुनील दत्त सहित 6 को सस्पेंड करो: राज सिंह

ह्यूमन राइट मंच चंडीगढ़ के प्रधान राज सिंह की फाइल फोटो
 
CHD MC एनफोर्समेंट का हीरो सुनील दत्त कैसे बना ?
 
चंडीगढ़ 11 अक्टूबर 2018। ह्यूमन राइट मंच चंडीगढ़ के प्रधान राज सिंह ने कड़ा रुख करते हुए कहा है कि अब बिलकुल भीसहन नहीं होगा। नगर निगम और प्रशासनिक अधिकारीयों के खिलाफ हल्ला बोलना ही पडेगा। राज ने प्रशासक वीपी सिंह बदनौर और एडवाइजर परिमल राय से मांग करते हुए कहा है कि वर्तमान में इंफोर्स्मेंट डिपार्टमेंट के हेड सुनील दत्त, वेद प्रकाश, बलजीत सिंह, अवतार गोरिया, निर्मल सिंह, विशन लाल और रतन को सस्पेंड करे। साथ ही इसपरविजिलेंस की इंक्वायरी की जाए। ताकि पता चले कि इन लोगों के पास कितनी संपत्ति जमा है। ह्यूमन राइट मंच चंडीगढ़ केप्रधान राज सिंह ने निगम कमिश्नर से भी सवाल किया है कि आखिर क्या मज़बूरी है कि सालों से सुनील दत्त को एनफोर्समेंट का हीरो बनाकर रखा गया है। राज सिंह ने कहा कि जल्द ही प्रशासक और एडवाइजर से मिलकर उक्त एन्फोर्समेंट दत्त सहित अधिकारियों का भांडा फोड़ेंगे।     
शहर व्यापारियों की हालत भीख मांगने जैसी
ह्यूमन राइट मंच चंडीगढ़ के प्रधान राज सिंह ने कहा कि रेहड़ी-फड़ी माफिया का लगातार बढ़ रहे आतंक से एक ओर जहां शहर के सैकड़ों व्यापारियों की हालत भीख मांगने जैसी हो गई है। वहीं माफिया को संरक्षण देने वालों की लगातार बल्ले-बल्ले हो रही है। पूरे शहर में माफिया इतने बेखौफ हैं कि विभिन्न मार्केटों की पार्किंग की जगह, फूटपाथ, दुकानों की दीवारें, पार्क, सड़कों और पेड़ों तक पर अतिक्रमण कुंडली मारकर सालों से बैठ गए हैं। अतिक्रमण के कारण कई मार्केटों में पांव तक रखने की जगह नहीं है। ऐसे में आगजनी की घटना घट जाए तो सैकड़ों की जानें तक जा सकती है, क्योंकि शहर की किसी मार्किट में अग्निशमन की गाड़ियां नहीं पहुंच सकती है। वहीं राज ने सैकड़ों व्यापारियों का आह्वान किया है कि फड़ी माँफिया को संरक्ष्ण देने वाले अधिकारियों को जड़ से उखाड़ फेकने के लिए आगे आएं। 
 
सुनील दत्त की जड़ें मजबूत! 
मंच के प्रधान ने एन्फोर्समेंट हेड सुनील दत्त के बारे में बताया कि इसकी जड़ें इतनी मजबूत है कि एमसी में कोई भी बड़े से बड़े अधिकारी क्यों न आ जाए। सुनील दत्त को हिला कोई नहीं सकता। राज ने यह भी बताया कि सुनील ही अधिकारियों से मिलकर एरियावाइज ड्यूटी दिलवाता है। चुनी हुई जगहों यानी मलाईदार जगहों पर वेद प्रकाश, बलजीत सिंह, अवतार गोरिया, निर्मल सिंह, विशन लाल और रतन को  लगवाया जाता है। इसकी पूरी  तरह से जांच होनी चाहिए। फ़िलहाल वेद प्रकाश को मनीमाजरा मौली जागरां, बलजीत सिंह स्टेंडिंग ड्यूटी और आउटर सेक्टर-22, अवतार सिंह गोरिया स्टेंडिंग सेक्टर-19, विशन लाल स्टेंडिंग और आउटर सेक्टर-22, रतन सिंह सेक्टर 40, सेक्टर 40, 41,42, 43, 45, अंटावा, बढ़ेड़ी, कृषण कालोनी  और बंटाला में लगाया गया है। मंच के प्रधान ने बताया कि यदि इन्हे ससपेंड नहीं किया गया तो आंदोलन, प्रदर्शन, अनशन, आमरण अनशन और राजभवन का घेराव भी होगा।शहर को बचाने के लिए कुछ भी करेंगे। इसमें शहर की जनता, व्यापारी अन्य लोगों का सहयोग रहेगा। उन्होंने कहा फ़िलहाल माँफिया और भ्रष्ट अधिकारियों से शहर को बचाना है।      
 
दीवारों और पेड़ों तक का अतिक्रमण
वहीँ अन्य सूत्रों के अनुसार शहर में दो तरह के अतिक्रमणकारियों का आतंक है। इसमें दुकानदार जो दुकानों के आगे-पीछे यहां तक दीवारों और पेड़ों तक का अतिक्रमण कर रहे हैं। इससे आस-पास के दुकानदारों, खरीददारी के लिए आने वाले ग्राहकों तक भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी हालत में मार्केट के अंदरूनी हिस्सों में आगजनी हो जाए तो किसी का बच पाना भी मुश्किल हो जाएगा। वहीं दूसरी तरफ शहर भर में हजारों की संख्या में रेहड़ी-फड़ी वालों ने विभिन्न मार्केटों के सामने पार्किंग, सड़कें, फुटपाथ, दूसरों के घरों की दीवारों पर कब्जा कर लिया है। सूत्रों का दावा है कि शहर में करीब 25,000 फड़ी वाले हैं। इनमें सिर्फ 6600 ही लोग हैं, जो एमसी में रजिस्टर्ड हैं। यानी शहर भर में 19 हजार रेहड़ी-फड़ी वाले कुंडली मारकर माफिया के दम पर शहर में बैठे हैं। हालांकि मांफिया से पीड़ित लोग अधिकारियों के पास शिकायत लेकर जाते हैं। वेंडर एक्ट की आड़ लेकर बचाव में उतर जाते हैं। ह्यूमन राइट्स मंच प्रधान राज सिंह का कहना है कि एमसी एनफोर्समेंट डिपार्टमेंट और माफिया की मिलीभगत से सिटी ब्यूटीफुल का चेहरा बदरंग हो रहा है। एनफोर्स डिपार्टमेंट और माफिया के बीच कड़ी बहुत मजबूत है। माफिया से करोड़ों की उगाही हो रही है। 
 
अधिकारी बोले
ज्वाइंट कमिश्नर तेजदीप सैनी का कहना है कि सभी तरह के अतिक्रमणकारियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाती है। फड़ी वालों को बिठाने के लिए काम चल रहा है। कुछ दिनों इस समस्याएं समाप्त हो जाएगी।