भाजपा में घमासान, एमसी हाउस में सॉलिड वेस्ट का एजेंडा नहीं होगा पास!

भाजपाई पार्षद आपस में ही करेंगे घमासान 
 
टंडन और खेर गुट के पार्षदों की अलग-अलग हुई बैठकें
 
नगर निगम हाउस की बैठक आज
 
सौजन्य आज समाज 
 
चंडीगढ़ 29 नवम्बर 2018। शुक्रवार को नगर निगम हाउस की होने वाली मीटिंग में एक बार फिर से भाजपाई पार्षदों ने आपस में घमासान करने का फैसला कर लिया है। वीरवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन गुट और सांसद किरण खेर गुट के पार्षदों ने अलग-अलग बैठकें बुलाकर पूरी अपनी रणनीति तैयार कर ली है। आज की अलग-अलग  भाजपाइयों की बैठकों से यह तय हो गया है कि खेर गुट के मेयर देवेश मोदगिल के मंसूबों पर पानी फेरने के लिए टंडन गुट ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। यानी टंडन गुट के पार्षद खेर गुट पर हावी रहने वाला है। वहीं कांग्रेसी पार्षद मेयर को यह कहते हुए कठघरें में खड़ा करने की कोशिश करने की तैयारी की है कि जब मोदगिल डिस्कोथेक जाकर डांस सकते हैं, तो ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी के अंतिम संस्कार में मेयर क्यों नहीं जा सकते। इस प्रकार से कांग्रेसी मेयर को एफबार गोली कांड से जोड़ घेरने की कोशिश करेंगे।
 
टंडन गुट के पार्षदों ने अज्ञात जगहों पर बैठक
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन गुट के पार्षदों ने अज्ञात जगहों पर बैठक बुलाकर एमसी हाउस की बैठक को लेकर रणनीति बनाई है। सूत्रों की मानें तो सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट जिसमें शहर र में डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन करने संबंधित प्रावधान है। इस एजेंडे को किसी भी सूरत में पास नहीं होने दिया जाएगा। क्योंकि इसकी डिटेल रिपोर्ट पूरी तरह से हवा-हवाई है। इस एजेंडे से संबंधित डिटेल रिपोर्ट सच्चाई की धरातल से हजारों कोस दूर है। रिपोर्ट में शहर की जनसंख्या, किचनों की संख्या, हाउस होल्ड की संख्या कॉमर्शियल, वीकली सब्जी मार्केट, मीट मार्केट, हेल्थ केयर के अलावा अन्य कई जगहों को गिनाया गया है, जो सिर्फ हवाई फायरिंग के अलावा कुछ भी नहीं है। इस प्रकार से सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट संबंधित एजेंडे का पास होना अब मुश्किल हो गया है। सूत्रों का दावा है कि इस एजेंडे के पीछे का सिर्फ और सिर्फ एक ही राज है कि किसी न किसी सूरत में डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन के नाम पर करीब 367 गाड़ियां हरहाल में खरीद लिए जाएं। इसका शहर को लाभ मिले या नहीं मिले। यही एक एजेंडे है जिसपर संजय टंडन और किरण खेर गुट के बीच गरारी फंस सकती है।
 
खेर गुट में शामिल पार्षद
वहीं दूसरी ओर अन्य सूत्रों का दावा है कि खेर गुट का प्रयास यह रहेगा कि कोई भी एजेंडा पास हो या न हो, लेकिन डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन के लिए गाड़ियां खरीदने का एजेंडा हर हाल पास हो जाए। हालांकि सूत्रों का यह  दावा है कि खेर गुट का यह  प्रयास रहेगा कि अन्य सभा एजेंडे पास कर लिए जाएं। ताकि 367 गाड़ियां खरीदने के लिए कोई रोड़ा न अटकाए।
 
सांसद किरण खेर गुट में शामिल पार्षद
नगर निगम के मेयर कार्यालय में मेयर सहित आठ पार्षद देवेश मोदगिल, अनिल दुबे, हरदीप सिंह, कंवर राणा, राजबाला, महेश इंदर सिंह, दिलीप शर्मा और सतप्रकाश अग्रवाल शामिल हुए।
 
प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन गुट में शामिल पार्षद
प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन गुट में शामिल पार्षदों की बैठक अज्ञात जगहों पर बुलाई गई। इसमें अरूण सूद, रवि शर्मा, गुरप्रीत ढिल्लों, सुनीता धवन, शक्ति देवशाली, भरत कुमार, विनोद अग्रवाल, जगतार सिंह, आशा जसवाल और चंद्रावती शुक्ला शामिल हुए। टंडन गुट के एक पार्षद राजेश कालिया मुंबई में बताया जाता है।
 
दो पार्षदों को किसी गुट ने नहीं पूछा
सूत्रों की मानें तो जपा पार्षद राजेश बिट्टेू और सतीश कैंथ को किरण खेर या संजय टंडन गुट ने नहीं बुलाया। माना जाता है कि दोनों पार्षद न्यूट्रल हैं।